घरेलु उपचार: गुडहल के फुल से पित्ताशय की पत्थरी का इलाज़

Posted by

आयुर्वेद का डंका आज विश्व में हर जगह बज रहा हैं. शायद ही ऐसी कोई बीमारी होगी जिसे आयुर्वेद से ठीक न किया जा सके. आज के अपने इस article में हम आपको Gallbladder Stones यानि pittay ki pathri को ठीक करने की ऐसी औषधि के बारे में बताने जा रहे हैं जो 5 दिनों में ही आपकी gall bladder stone को जड़ से ख़त्म कर देगी और आप और आपके doctors ये देखकर हैरान रह जाएँगे की आखिर पथरी गई कहाँ. ये एक ऐसी आयुर्वेदिक दवाई है जिसके इस्तेमाल से एक नहीं बल्कि काफ़ी लोगों ने अपनी पत्थरी से छुटकारा पाया है.

अगर आप doctors से अपनी पित्त की पथरी के इलाज के बारे में बोलेंगे तो वो आपको इसके लिए operation करना ही एक रास्ता बताएँगे. जिसका normal खर्चा 5,000 से 10,000 तक हो सकता है. मगर हम जो homeopathic दवाई आपको बताने जा रहें उसमें आपका खर्चा केवल 30-40 रूपए का होगा. इस दवाई की कीमत देखने में भी बहुत ही छोटी है मगर इसने बड़ी से बड़ी पथरी को गलाकर जड़ से समाप्त कर दिया है फिर चाहे वो gallbladder stone हो या kidney stone. ये दवाई दोनों तरह की पथरी को ख़त्म करने में कारगर है.

gallbladder stones treatment with hibiscus powder in hindi

गाल ब्लैडर स्टोन के लिए चमत्कारिक औषधि

चलिए तो जानते हैं की वो कौन सी आयुर्वेदिक औषधि है जो आपकी पथरी को इतनी तीव्रता से नष्ट कर देती है. उस दवाई का नाम है गुडहल का पाउडर (gudhal ka powder) जिसे इंग्लिश में Hibiscus powder कहा जाता है. इस पाउडर को यदि आप लेना चाहते हैं तो अपने नज़दीकी पंसारी की दुकान से ले सकते हैं या फिर आप इसे online भी मंगवा सकते हैं. इसे online मंगवाने से पहले ये ज़रूर चेक कर लें की organic hibiscus powder ही लें. सबसे महत्वपूर्ण बात का ध्यान रखना आपके लिए बहुत ज़रूरी हैं की ये पाउडर external use और internal use दोनों ही packing में आता है तो आपको सिर्फ internal use वाली औषधि ही लेनी है. अगर ऐसा product में सही से mention नहीं किया हो तो आप खुद घर पर ही इस दवाई को बना सकते हैं जिसके लिए आपको कुछ गुडहल के फूलों की पंखुड़ियों को धुप में सुखाना होगा. जब ये पंखुडियां अच्छे से सुख जाए तो इनको पीसकर इनका पाउडर बना लें. ये तैयार हो गया आपका gudhal का powder.

गुडहल के पाउडर को इस्तेमाल करने की पूरी विधि

गुडहल के पाउडर का एक चम्मच रात को खाना खाने के कम से कम एक घंटे के बाद फांक ले. इस बात के लिए अपने मन को पहले से ही तैयार कर लें की इसका taste बहुत ही कड़वा होता है मगर इतना भी कडवा नहीं होता की आपके लिए इसे खा पाना मुश्किल हो. इस पाउडर को खाने के बाद आपको कुछ भी न ही खाना है और न ही पीना है, यहाँ तक की पानी भी नहीं पीना है. इसको खाने के बाद हो सकता है की आपको पहले 2 या 3 दिन बहुत तेज़ सीने में दर्द हो. मगर घबराएँ नहीं. ये दर्द दरअसल में होता है पथरी के टूटने का. पहले 2 या 3 दिन में आपकी पथरी पूरी तरह से टूट जाएगी और अगले 2 या 3 दिन में वो टूटी पथरी भी पूरी तरह से ख़तम हो जाएगी.

निम्न सावधानियों पर अवश्य ध्यान दें

इस प्रयोग को करने वाले दिनों में आप पालक, भिंडी, चुकंदर और टमाटर का सेवन करना छोड़ दें और अमरुद और अन्य बिज़ वाली सब्जियां और फलों को न खाएँ. अगर आपके stone का साइज़ काफ़ी बढ़ा है तो आप किसी doctors की देखरेख में या फिर doctor से सलाह लेकर ही इस प्रयोग को करें क्योंकि जब आपका stone टूटेगा तो आपका बहुत दर्द होगा. अगर आपके stone का साइज़ बड़ा है और आप इसे तोड़ना चाहते हैं तो आपको हम बताना चाहते हैं की पहले आप 5 दिन तक रोज़ाना 5 गिलास सेब के जूस के पिएँ. जिसे आपको दिन में 3 घंटे के gap के बाद पीना है.

हेल्लो दोस्तों, मेरा नाम यशपाल शर्मा है और मैं चंडीगढ़ का रहने वाला हूँ. मुझे नए-नए विषय के बारे में जानकारी इकठ्ठा करना बहुत अच्छा लगता है और इस वेबसाइट के ज़रिए मैं उस जानकारी को आपके साथ शेयर करता हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *