घरेलु इलाज : थायराइड का इलाज कैसे करें

Posted by

हमारे गले के पास एडम्स एप्पल (adam’s apple) के नीचे एक तितली के आकार की ग्रंथि (gland) होती है जो हमारे शरीर में metabolism (चयापचय क्रिया) को नियंत्रित रखता है. जिससे thyroxine hormones बनता है. ये ग्रंथि त्वचा के बिल्कुल नज़दीक होती है. जब इस harmon का संतुलन बिगड़ने लगता है तो thyroid रोग होने का ख़तरा बना रहता है. इस harmons के कम सक्रिय होने से या अधिक सक्रिय होने से हमें thyroid सम्बंधित परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. इसकी वजह से शरीर के उर्जा कम बनती है जिससे हम पूरा दिन थका हुआ महसूस करते हैं और पुरे शरीर में सुस्ती सी बनी रहती है.

थायराइड एक सामान्य बीमारी है जो अक्सर महिलाओं में अधिक पाई जाती है. जब भी आपको इसका पता चले तो इसका सही समय पर उपचार करना शुरू कर दें. क्योंकि अपने शुरूआती चरण में इसे ठीक करना आसन होता है मगर अगर आप इसे नज़रंदाज़ करें तो ये आगे चलकर एक बड़ी समस्या का कारण बन सकता है. आज हम आपको बतायेंगे की thyroid को कैसे ठीक करें. ये नुस्खे पूरी तरह से आयुर्वेदिक है जो आप घर पर रहकर ही कर सकते हैं.

thyroid

थायराइड कितनी तरह की होती है

1. हाइपो-थायराइ ((Hypo-Thyroid)

Hypo Thyroid में थाइरोइड ग्रंथि बहुत धीरे काम करने लगती है या काम करना बंद कर देती है. इस बीमारी में शरीर के सबसे जरुरी T3 और T4 hormons का संतुलन बिगड़ जाता है. हाइपो-थाइरोइड होने पर जो लक्षण पाए जाते हैं वो हम नीचे दे रहे हैं.

  • वजन बढ़ना
  • ज्यादा ठंड महसूस होना
  • किसी काम के दिल न लगना
  • कब्ज या गैस की समस्या बनी रहना

2. हाइपर-थाइरोइड (Hyper-Thyroid)

Hyper Thyroid में थाइरोइड ग्रंथि बहुत तेज़ी से कार्य करने लग जाती है जिससे बहुत अधिक मात्रा में harmons निकलकर शरीर और खून में मिलने लग जाते हैं. इस समस्या में मुख्यतः जो लक्षण पाए जाते हैं वो है:

  • बहुत भूख लगना
  • माँसपेशियों कमज़ोर पड़ना
  • बेचेनी बने रहना
  • नींद सही से न आ पाना

थायराइड के लक्षण

इस बीमारी में शरीर में कई तरह की समस्याएँ पैदा होने लगती है. यह रोग होने पर बहुत से लक्षण आपको अपने शरीर में दिखाई देंगे. थाइरोइड के मरीज़ को ये लक्षण अनदेखे नहीं करने चाहिए और सही समय पर अपना सही इलाज करवाना चाहिए. थाइरोइड के कुछ लक्षण निम्न प्रकार से हैं.

  • अनावश्यक तरीके से वजन का बढ़ना या घटना
  • Heart Beat का तेज होना
  • पसीना ज्यादा आना
  • आँखो और चेहरे पर सूजन
  • सिर, गर्दन और जोड़ों में दर्द रहना
  • बेचैनी रहना
  • हाथ और पैरों में कपकपी
  • क़ब्ज़
  • भूख कम लगना
  • स्किन रूखी होना
  • ठंड जादा लगना
  • आवाज़ में भारीपन
  • गर्दन के निचले भाग में सुजन, गांठ और दर्द होना

थायराइड होने के कारण

  • बहुत अधिक तनाव लेने से thyroid हो जाता है.
  • Pregnancy के समय होने वाले hormons के बदलाव की वजह से भी थाइरोइड की problem पाई जाती है.
  • प्रदूषण का असर सीधा हमारी health पर पड़ता है जिससे हमारी थाइरोइड ग्रंथि को भी नुकसान पहुँचता है और थाइरोइड की बीमारी हो जाती है.
  • किसी medicine के side effect की वजह से भी ये बीमारी होने की सम्भावना बनी रहती है.
    आयोडीन के नमक के कम या ज्यादा सेवन से थाइरोइड हो जाता है.
  • Protein Powder, Supplement या Capsule के रूप में जब हम जरूरत से ज्यादा सोया की मात्रा ले लेते हैं उससे भी thyroid होने का ख़तरा बढ़ जाता है.

थायराइड में क्या नहीं खाना चाहिए

  • सिगरेट पीना छोड़ें और अगर कोई आपके आस पास पीता हैं तो इसके धूएँ से बचें. सिगरेट के धूएँ में थायनोसाईनेट पाया जाता है जो थाइरोइड ग्रंथि को नुकसान पहुँचाता हैं. साथ ही आपको शराब व अन्य नशों से भी दूर रहना होगा.ब्रोकली, फूलगोभी और पत्तागोभी नहीं खाना चाहिए, थाइरोइड के मरीज़ के लिए ये नुक्सान दायक होते है
  • थाइरोइड के मरीज़ को बाज़ार में मिलने वाले सफ़ेद नमक का सेवन नहीं करना चाहिए. आपको सिर्फ काला नमक या फिर सेंधा नमक ही उपयोग करना चाहिए.
  • अगर आप ये सब सावधानियाँ बरतते हैं तो आप थाइरोइड से अपना बचाव कर सकते हैं और हर 6 महीने में अपने थाइरोइड की जाँच जरुर कराएँ. साथ ही चिकित्सक द्वारा दी गई दवाइयों को नियमित रूप से खाते रहें.

थायराइड में खान-पान

  • थाइरोइड के रोगी को iodine का नमक अपने भोजन में करना जरुरी है. समुद्री मछली और अन्य समुद्री जीव भी आयोडीन प्राप्त करने के अच्छे स्त्रोत हैं.
  • हरी सब्जियाँ और ताज़ा पत्तेदार सब्जियाँ खाना और धनिया, प्याज, हरी मिर्च, लहसुन और टमाटर आपकी सेहत के लिए अच्छे हैं.
  • सूखे मेवे, अखरोट, बादाम, सूरजमुखी के बीज खाने आपको जल्दी फायदा पहुँचाएँगे.
  • दहीं, गाय का दूध, पनीर, नारियल और नारियल का तेल सभी आपके लिए इन दिनों में फायदेमंद है.
  • Vitamin D आपके लिए बहुत अच्छा है इसलिए आप दूध, अंडे, मशरूम, समुद्री मछली गाजर का सेवन जरुर करें जो आपको भरपूर मात्रा में vitamin d देते हैं.

थायराइड इलाज के टिप्स

  • महिलाओं में थायराइड होने किए सम्भावना पुरुषों से अधिक रहती है. थायराइड का समय रहते इलाज करवा लेना चाहिए ढील बरतना अच्छी बात नहीं है.
  • थायराइड रोगी को हर तीन महीने के बाद थायराइड की जाँच करवानी चाहिए और ये भी ध्यान में रखें की थायराइड टेस्ट करवाने से 12 घंटे पहले तक कुछ भी खाना और पीना नहीं है.
  • थायरोइड रोगी महिला यदि pregnancy के बारे में सोच रही हैं तो आप एक बार किसी अच्छे doctor से सलाह अवश्य लें और थायराइड पूरी तरह से ठीक होने के बाद ही आपको माँ बनने के बारे में सोचना चाहिए.

थायराइड के घरेलू उपाय

1. बादाम और अखरोट

बादाम और अखरोट थाइरोइड के इलाज़ के लिए बहुत फायदेमंद है क्योंकि इनमे पाया जाने वाला सेलीनीयम थाइरोइड को कम करता है और साथ ही गले में होने वाली सूजन को भी कम करता है.

2. अश्वगंधा

गाय के दूध के साथ एक चम्मच अश्वगंधा चूर्ण रात को सोने से पहले लें. ये भी आपको थाइरोइड की बीमारी से आराम दिलाता है.

3. हल्दी दूध

Thyroid control करने के लिए आपको दूध में हल्दी अच्छे से गर्म करके पीना चाहिए. आप चाहें तो हल्दी को थोड़ा सा भून कर भी इसका सेवन कर सकते हैं.

4. लौकी का जूस

आपको रोजाना लौकी का जूस पीना चाहिए जो थायरोइड को जड़ से खत्म करने में मददगार है. जूस पीने के तुरंत बाद आपको कुछ भी नहीं खाना चाहिए.

5. हरा धनिया

हरे धनिये को पीसकर चटनी बना लें और फिर एक गिलास पानी में एक चम्मच चटनी घोलकर पिएँ. इस उपाय में इस बात का अवश्य ध्यान रखें की ताज़ी चटनी ही सेवन करने के लिए बनानी चाहिए. धनिया भी वो इस्तेमाल करना चाहिए जो ज्यादा सुगंध वाला हो. अगर आप इसे प्रतिदिन करते हैं तो आपको थाइरोइड की बीमारी से राहत मिलेगी.

6. काली मिर्च

काली मिर्च थाइरोइड का इलाज करने के लिए सबसे उपयोगी है. आप इसे किसी भी रूप में लें ये आपके थाइरोइड को कम ही करेगी.

7. तुलसी और एलोवेरा

दो चम्मच तुलसी का रस लें और उसमे आधा चम्मच एलोवेरा जूस को मिला लें. अब इसका सेवन करना आपको थाइरोइड की बीमारी से छुटकारा दिलाने में सहायक है.

8. लाल प्याज

लाल प्याज को दो टुकड़ों में तोड़ लें और फिर इससे अपनी थाइरोइड ग्रंथि के चारों और हल्के से मसाज करें. अब अपनी गर्दन को धोएँ नहीं आपकी स्किन में इस रस को observe होने दें.

हेल्लो दोस्तों, मेरा नाम यशपाल शर्मा है और मैं चंडीगढ़ का रहने वाला हूँ. मुझे नए-नए विषय के बारे में जानकारी इकठ्ठा करना बहुत अच्छा लगता है और इस वेबसाइट के ज़रिए मैं उस जानकारी को आपके साथ शेयर करता हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *